Home JANKRITI ISSUE 2023 JANKRITI ISSUE 101-102 (COMBINED ISSUE)
Sale!

JANKRITI ISSUE 101-102 (COMBINED ISSUE)

Original price was: ₹150.00.Current price is: ₹60.00.

आप सभी पाठकों के समक्ष जनकृति का सितंबर-अक्टूबर 2023 सयुंक्त अंक प्रस्तुत है। इस अंक में आप साहित्य, कला, इतिहास, संस्कृति इत्यादि क्षेत्रों के महत्वपूर्ण विषयों पर आधारित शोध आलेख, लेख पढ़ सकते हैं। इसके अतिरिक्त अंक में आप साहित्यिक रचनाएँ भी पढ़ सकते हैं।

Quick Checkout
Categories: , Tag:

Description

JANKRITI – VOL 9, ISSUE 101-102, SEPTEMBER- OCTOBER 2023- INDEX

कला-विमर्श  
भारतीय रंगमंच और पाश्चात्य रंगमंच की अवधारणा / अभिनव सिंह 8
वारकरी संप्रदाय: धार्मिक लोक कलाएं / डॉ.योगेश कोरटकर 14
वेबसीरीज के संवादों का सामाजिक व मनोवैज्ञानिक अध्ययन (विशेष सन्दर्भ: मिर्ज़ापुर) / अरुण जयसवाल, डॉ. रामसुंदर कुमार 21

दलित एवं आदिवासी -विमर्श   
हिंदी दलित कहानियों में अभिव्यक्ति स्त्री जीवन का संघर्ष / पवन कुमार 35
मध्यप्रदेश की जनजातियों में पोषण एवं स्वास्थ्य की स्थिति का एक अध्ययन / डॉ. अरुणेश प्रताप सिंह 44

स्त्री-विमर्श 
भारत में महिला एनीमिया: एक बहुआयामी सामाजिक अध्ययन / सोम्या पाण्डेय 52
मध्यकालीन समाज में स्त्री / रवीन्द्र प्रताप सिंह 61

किन्नर-विमर्श
हिन्दी नाटक में किन्नर विमर्श / किसान गिरजाशंकर कुशवाहा 69

मीडिया-विमर्श 
आमजन के मनोरंजन और सहज संपर्क का संचार साधन रेडियो की विकास यात्रा /  कुलदीप कुमार 80

भाषिक-विमर्श 
स्वाधीनता आन्दोलन मे भारतेंदु की पत्रिकाएं एवं खड़ी बोली का योगदान / राखी 85

इतिहास 
समृद्ध संस्कृति का प्रतीक - ऐतिहासिक नगर विदिशा / शैलेन्द्र चौहान 91

राजनीतिक-विमर्श 
भगत सिंह का राष्ट्रवाद / कीर्ति 97

साहित्यिक-विमर्श 
‘रश्मिबंध’ में अणु-बम विस्फोट के तिरस्कार और मानव कल्याण के स्वर / डॉक्टर चंद्रमोहन सिंह रावत 102
हिंदी साहित्य में दिव्यांग-दर्शन / मनोज शर्मा 115
हजारीप्रसाद द्विवेदी के उपन्यासों में भारतीयता / लौह कुमार  124
काव्यभाषा की अवधारणा एवं उसके तत्त्व / भूपेन्द्र कुमार भगत  133
सुरेन्द्र वर्मा के नाटकों में सामाजिक चेतना / बाबूलाल मीना 142
‘सुनीता’ और नलिन विलोचन शर्मा / अजय आनंद 148
समकालीन साहित्य का वर्तमान परिदृश्य और स्त्री-जीवन / सरिता देवी 154
समकालीन हिंदी कविता में आदिवासी समाज और संस्कृति / सच्चिदानन्द मिश्र 163
समकालीन हिंदी कविता: पर्यावरण विमर्श / डॉ. वैशाली पाचुन्दे 172
पर्वतीय जीवन बोध का साहित्य: शेखर जोशी / प्रिया कुमारी 184
भारत दुर्दशा के बहाने भारत पर एक नजर / प्रो. हर्षबाला शर्मा 190
बचपन की चौखट पर मानवता को संरक्षण प्रदान करती कविताएँ / प्रतिभा द्विवेदी 201
पंकज सुबीर की कहानी 'हमेशा देर कर देता हूँ मैं' (कहानी का यथार्थ: यथार्थ से परे) / दिनेश कुमार पाल 210
काव्य में अप्रस्तुत विधान / किशन लाल कुम्हार 221
कठगुलाब उपन्यास के माध्यम से स्त्री मुक्ति के प्रश्न / किशोर कुमार 229
मेरा बचपन मेरे कंधों पर: एक दलित बालक के संघर्ष की व्यथा / सच्चिदानंद 236
विकास बिश्नोई की कहानियों में बदलते वर्तमान परिदृश्य / डॉ. रश्मि शर्मा 243

आलेख 
किस्सागो उपन्यास : एक मानवशास्त्रीय विश्लेषण / महेंद्र कुमार जायसवाल 249

पुस्तक समीक्षा
झारखंडी माटी के रंग में रंगी कहानियाँ / समीक्षक:धर्मेन्द्र कुमार 256