Home JANKRITI ISSUE 2023 JANKRITI ISSUE 98-99 (COMBINED)
Sale!

JANKRITI ISSUE 98-99 (COMBINED)

Original price was: ₹150.00.Current price is: ₹60.00.

आप सभी पाठकों के समक्ष जनकृति का जून-जुलाई 2023 सयुंक्त अंक प्रस्तुत है। इस अंक में आप साहित्य, कला, इतिहास, संस्कृति इत्यादि क्षेत्रों के महत्वपूर्ण विषयों पर आधारित शोध आलेख, लेख पढ़ सकते हैं। इसके अतिरिक्त अंक में आप साहित्यिक रचनाएँ भी पढ़ सकते हैं।

Quick Checkout
Categories: , Tag:

Description

जनकृति, वर्ष 9, अंक 98-99, जून-जुलाई  2023 (सयुंक्त अंक): विषय सूची-

संपादकीय  4

कला-विमर्श  
यौन शोषण एवं बलात्कार की शिकार नारी: हिंदी महिला नाट्य लेखन के विशेष संदर्भ में / देवानंद यादव 8
महाराष्ट्र का प्रसिद्ध लोकनाट्य : ‘तमाशा’/ डॉ. योगेश कोरटकर 17
Kathak - Origin and progress of Gharana / Dr. Preeti Damle 22

दलित एवं आदिवासी -विमर्श   
अरुणाचल की सिंहफो जनजाति / वीरेन्द्र परमार 26

स्त्री-विमर्श 
‘सुमंगली’ कहानी में दलित स्त्री दशा का अंकन: नारीवादी दृष्टि से / मिनाली गुप्ता 34

किन्नर-विमर्श
समकालीन हिंदी उपन्यासों में अभिव्यक्त किन्नर संघर्ष / रामेश्वर महादेव वाढेकर 44
दरमियानों का जीवन और हिंदी उपन्यास / चुन्नू कुमार 53

मीडिया-विमर्श 
उत्तराखण्ड में जनसंचार की पहुंच /  राजेन्द्र सिंह क्वीरा 62

भाषिक-विमर्श 
भूमंडलीकरण और हिंदी / डॉ. मीनाक्षी 68
वैश्विक स्तर पर हिंदी /डॉ. प्रतिभा राजहंस 74

इतिहास 
इतिहास की पाठ्यपुस्तकें, विवाद और इनमें इतिहासकारों की भूमिका/ सीमा शुक्ला ओझा 83

समसामयिक- विमर्श
श्रीमद्भगवद्गीता द्वारा नकारात्मक भावनाओं का यौगिक प्रबंधन – एक संक्षिप्त चर्चा/ रिद्धि अग्रवाल, डॉo अजय पाल 97
रूरल अर्बन डिज़िटल डिवाइड / वंदना गुप्ता 106
साहित्यिक-विमर्श 
समकालीन हिंदी ग़ज़ल में पर्यावरणीय चेतना / विनीत कुमार यादव, डॉ. क्षमा मिश्रा 115
समकालीन हिंदी कविता : अभिव्यक्ति पर संकट की पहचान / प्रतिभा द्विवेदी 123
सकारात्मक बदलावों की संवेदनशील कथाकार सूर्यबाला / शैलेंद्र कुमार सिंह  130
रेखाचित्र-स्वरूप और विश्लेषण (महादेवी वर्मा का रेखाचित्र साहित्य)/ मनोज शर्मा  140
बड़े भाई साहब : बड़प्पन की कृत्रिमता से मुक्ति / डॉ. नवाब सिंह 148
तेभ्यः स्वधा के आईने में विभाजन की त्रासदी से उपजी स्त्रियों की पीड़ा / प्रणय प्रकाश 159
तीसरा क्षण’- काव्य दृष्टि और रचना -प्रक्रिया / सूर्य प्रकाश त्रिपाठी 166
ताड़का वध : ‘सभ्य’ समाज की संवेदनहीनता पर प्रहार / डॉ.उमा मीणा 173
खुम्माण रासो में प्रयुक्त कथानक रूढ़ियाँ / ख़ुशबू 183
साहित्य इतिहास के परिप्रेक्ष्य में आचार्य रामचंद्र शुक्ल की इतिहास दृष्टि/ रत्नेश कुमार तिवारी 193
तुलसी के राम जी का विजय रथ / डॉ. सुधा देवी दीक्षित 202
डॉ० रमेश पोखरियाल निशंक के 'अंतहीन' कहानी संग्रह मे स्त्री का दाम्पत्य जीवन / रजनी रानी 210
आदिवासी हिन्दी कविता में आदिवासी समाज की संस्कृति का स्वरूप और महत्व / डॉ. अनीश कुमार 219
ओमप्रकाश वाल्मीकि की कहानियों में भाषिक प्रयोग / मनीष साहू 232
ओमप्रकाश वाल्मीकि की कहानियों में चित्रित दलित जीवन का यथार्थ / सतवंत कौर 240
'आवाज़ें' कहानी में अभिव्यक्त दलित चेतना का विश्लेषण/ कौशलेंद्र कुमार 249
सांप्रदायिकता और हिन्दी उपन्यासों मे उसका संदर्भ ‘तमस’ के परिप्रेक्ष्य में/ आलोक कुमार 257

संस्कृति 
दीनदयाल उपाध्याय एवं एकात्म-मानववाद/ विकास यादव 270
लोक संस्कृति में लोक कथाओं का रूप / प्रो. शमा खान 278

आलेख 
व्यंग्य का अनूठा उदाहरण : प्रेमचंद के फटे जूते / भोला नाथ सिंह 283

साहित्यिक रचनाएँ

कविता
धर्मपाल महेंद्र जैन 288

कहानी
फ़्रांसीसी कहानी का अनुवाद- ‘मौन लोग’, मूल कहानी : अल्बेयर कामू,/अनुवादक:: सुशांत सुप्रिय 291

पुस्तक समीक्षा
भारतीय समाज का अनदेखा सच : महाब्राह्मण / डॉ कुमारी उर्वशी 307